आपकी जानकारीके लिए ….

दोस्तों ….. अगले ह्फ्तेसे ….
१० दिन तक ….
आप सबसे मिलनेकी ….
उत्सुकता अब बढ़ रही है …

आपकी जानकारीके लिए ….
My return route from Valsad with all info >>

http://www.facebook.com/photo.php?fbid=10150612181941472&set=a.413954761471.193976.701851471&type=1&theater&notif_t=like

उदयपुर के प्रवास की खट्टी मीठी यादोंके साथ अब वापसिकी तैयारीका आरंभ करना हे..
कलसे शुरू होनेवाले सप्ताहमे कुछ नए दोस्तोके निमंत्रण पर उनके निवासस्थान पर जाना होगा ..
उदयके दोस्तोके परिवारसे भी मुलाकातोका दौर चलेगा ..

केवल शामके समयमें इन सभी लोगोसे मिलनेका कार्यक्रम कैसे बनाये यह सबसे बड़ी चुनोती हे ..
यदि तृप्ति ने शोपिन्गका मन बनाया … तो मेरी जेब ढीली हो सकती है … !!!

हमारा वापसी का सफर इस प्रकार से होगा …

०१.०४.२०१२ सुबह उदयपुरसे पालनपुर के लिए सफर निश्चित हे …
विराम स्थान – @Vivekkumar Saahi + फेसबूक ओर मार्गदर्शन के दोस्त.

०३.०४.२०१२ सुबह पालनपुरसे डीसा के लिए सफर निश्चित हे …
विराम स्थान – @Alpesh Desai + फेसबूक ओर मार्गदर्शन के दोस्त.

०३.०४.२०१२ शाम डीसासे पाटन के लिए सफर निश्चित हे …
विराम स्थान – @Rashmi Shah + फेसबूक ओर मार्गदर्शन के दोस्त.

०४.०४.२०१२ सुबह पाटनसे सिद्धपुर के लिए सफर निश्चित हे …
विराम स्थान – @Haresh Prajapati

०४.०४.२०१२ शाम सिद्धपुरसे महेसाना के लिए सफर निश्चित हे …
विराम स्थान – @AT / BT Prajapati + JCI +फेसबूक ओर मार्गदर्शन के दोस्त.

०५.०४.२०१२ सुबह महेसाना से अहमदाबाद के लिए सफर निश्चित हे …
विराम स्थान – @Vipul Shah (Vadaj) + फेसबूक ओर मार्गदर्शन के दोस्त.

०६.०४.२०१२ – @Vipul Shah (Vadaj) + फेसबूक ओर मार्गदर्शन के दोस्त.

०७.०४.२०१२ सुबह अहमदाबादसे विद्यानगर के लिए सफर निश्चित हे …
विराम स्थान – @Hiren Patel + फेसबूक ओर मार्गदर्शन के दोस्त.

०७.०४.२०१२ दोपहर विद्यानगरसे वड़ोदरा के लिए सफर निश्चित हे …
विराम स्थान – @Ajay Vyas + फेसबूक ओर मार्गदर्शन के दोस्त.

०८.०४.२०१२ – @Ajay Vyas + फेसबूक ओर मार्गदर्शन के दोस्त.
विराम स्थान – @Satish Jaiswal

०९.०४.२०१२ सुबह वड़ोदरासे भरूच के लिए सफर निश्चित हे …
विराम स्थान – @Sandip Gandhi + फेसबूक ओर मार्गदर्शन के दोस्त.

१०.०४.२०१२ सुबह भरुचसे बारडोली के लिए सफर निश्चित हे …
विराम स्थान – @Nilesh Naik + फेसबूक ओर मार्गदर्शन के दोस्त.

११.०४.२०१२ सुबह बारडॉलीसे वलसाड के अनावल / चिखली होते हुए सफर निश्चित हे …
गंतव्यस्थान – हमारा घर !!!

.

Advertisements

About અખિલ સુતરીઆ

મારા વિશે મારે કંઇક કહેવાનું હોય તો, .... થોડુ વિચારવું પડે. મને મારી ઓળખ કરાવે .... એવા એક જ્ણની તલાશમાં છું.
This entry was posted in રોજનીશી ૨૦૦૯. Bookmark the permalink.